रायपुर। नया रायपुर स्थित आइटीएम यूनिवर्सिटी ने सोमवार को आइटीएम यूनिवर्सिटी में पुलेला गोपीचंद बैडमिंटन एकेडमी का शुभारंभ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने किया। इस मौके पर भारत के शीर्ष कोचेज पद्मभूषण पुलेला गोपीचंद, संजय मिश्रा के साथ विश्व-स्तरीय भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी श्रीकांत किदाम्बी और एचएस प्रणय भी उपस्थित रहे। आइटीएम यूनिवर्सिटी के चांसलर डॉ. पी. वी रमन और वाइस चांसलर डॉ. संजय कुमार ने सभी का स्वागत किया। छत्तीसगढ़ में यह अपनी तरह की पहली एकेडमी है। एकेडमी द्वारा शिक्षा, स्पोर्ट्स साइंसेज और पेशेवर कोचिंग को एकसाथ पेश किया जायेगा। यहां पर एक ऐसा माहौल बनाने की कोशिश की जायेगी, जहां चैम्पियंस को प्रशिक्षित किया जा सके। इस एकेडमी में स्पोर्ट्स किनेसियोलॉजी, न्यूट्रीशन, फिजियोथैरेपी के लिये लिविंग लैबोरेटरी मौजूद होंगी। इसके साथ ही कोच ट्रेनिंग प्रोग्राम्स चलाने की योजना भी है। इंडिया जूनियर नेशनल कोच संजय मिश्रा एकेडमी के हेड होंगे। पद्मभूषण गोपीचंद पुलेला ने कहा कि टाटा ट्रस्ट द्वारा समर्थित आइटीएम यूनिवर्सिटी में पुलेला गोपीचंद बैडमिंटन एकेडमी आकांक्षी बैडमिंटन खिलाड़ियों को शिक्षा एवं खेल के बीच सही संतुलन बनाने में मदद करेगी। छत्तीसगढ़ में अब खिलाड़ियों को समान सपोर्ट सिस्टम मिलेगा और मेरा अंदाजा है कि कुछ वर्षों में यहां से शीर्ष स्तर के खिलाड़ियों की अगली पीढ़ी निकलेगी। टाटा ट्रस्ट्स के हेड-असेस्मेंट एवं इम्पैक्ट मेजरमेंट, आनंद दातला ने कहा कि परस्पर सहयोग समूचे भारत में हमारे विकास प्रयासों की नींव है। इन साझेदारियों से हमें समय पर तथा प्रभावी तरीके से विकास चुनौतियों से निपटने में मदद मिलेगी। छत्तीसगढ़ में बच्चों को अवसर उपलब्ध कराने के लिये हमें पुलेला गोपीचंद बैडमिंटन एकेडमी और आइटीएम यूनिवर्सिटी के साथ सहयोग करके बेहद गर्व हो रहा है।